February 25, 2024

शनिवार को कोयलानगर में डी ए वी राष्ट्रीय स्तर खेलकूद प्रतियोगिता 2023 (क्लस्टर लेवल-8) का किया उद्घाटन झारखण्ड प्रक्षेत्र–C के सहायक क्षेत्रीय पदाधिकारी सह डीएवी कोयलानगर के प्राचार्य एन एन श्रीवास्तव ने किया

धनबाद: शनिवार को कोयलानगर में डी ए वी राष्ट्रीय स्तर खेलकूद प्रतियोगिता 2023 (क्लस्टर लेवल-8) का किया उद्घाटन झारखण्ड प्रक्षेत्र–C के सहायक क्षेत्रीय पदाधिकारी सह डीएवी कोयलानगर के प्राचार्य एन एन श्रीवास्तव ने किया। मौके पर खिलाड़ियों को सम्बोधित करते हुए श्री एन एन श्रीवास्तव ने कहा कि ऐसी स्पर्धाओं से बच्चों मे टीम भावना विकसित होती है और उन्हें यह भी पता चलता है कि उनके अभ्यास किस  स्तर के हैं। सभी छात्रों से अपील किया कि आप सभी खेल भावना से प्रेरित होकर पूरे प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करें। आगे उन्होंने कहा कि डीएवी नेशनल स्पोर्ट्स के अंतर्गत जो भी प्रतियोगिता होगी वह सभी अब खेल एवं  युवा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संबंध होगी। राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले सभी खिलाड़ियों को डीएवी प्रबंधन पुरस्कृत करेगी।वहीं उन्हें विशेष रूप से प्रशिक्षित करेगी जिससे कि उन्हें राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलों में आगे बढ़ने का अवसर मिल सके।जोनल अंडर- 14 कराटे बालक एवं बालिका वर्ग में डी ए वी कुसुंडा ओवरऑल चैंपियन बना वहीं डी ए वी कोयला नगर उपविजेता रहा। जोनल अंडर- 17 बालक एवं बालिका वर्ग में भी डी ए वी कुसुंडा ओवरऑल चैंपियन तो  डी ए वी कोयला नगर उपविजेता रहा। वहीं जोनल अंडर- 14 एवं 17 जुडो बालक वर्ग में डी ए वी कोयला नगर ओवरऑल चैंपियन तो डी ए वी कुसुंडा उपविजेता रहा। वहीं दूसरी ओर जोनल अंडर- 19 जुडो बालक वर्ग में डी ए वी कोयला नगर चैंपियन रहा। वहीं जोनल अंडर- 14 जुडो बालिका वर्ग में डी ए वी कुसुंडा ओवरऑल चैंपियन तो डी ए वी कोयलानगर उपविजेता रहा। वहीं दूसरी ओर जोनल अंडर- 17 जुडो बालिका वर्ग में डी ए वी कोयला नगर ओवर ऑल चैंपियन तो डी ए वी सिंदरी उपविजेता रहा। वहीं जोनल अंडर- 19 जुडो बालिका वर्ग में डी ए वी कोयला नगर चैंपियन रहा। वहीं बैडमिंटन जोनल अंडर- 17 बालक वर्ग एकल प्रतियोगिता में उदित दयाल डी ए वी कोयला नगर चैंपियन रहा वहीं डबल बैडमिंटन प्रतियोगिता में उदित दयाल और शरांश डी ए वी कोयलानगर उपविजेता रही। पूरे खेल प्रतियोगिता के सफल आयोजन मे डी ए वी कोयलानगर सभी शिक्षक-शिक्षकेत्तर कर्मचारियों का सक्रिय योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *