December 5, 2023

DHANBAD DESK | गिरिडीह जिले के बेंगाबाद थाना में इंस्पेक्टर के रीडर की जिम्मेदारी संभाल रहे सिपाही दीपक कुमार को एसीबी (एंटी करप्शन ब्यूरो) धनबाद की टीम ने शनिवार की देर शाम को 5 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगेहाथ धर दबोचा.
दीपक कुमार को रिश्वत की रकम देने एक महिला व एक युवक बुलेट से थाना पहुंचे थे. एसीबी के हाथ लगते ही दीपक कुमार की तबीयत बिगड़ गई. स्थिति को देखते हुए पांच गाड़ी से आयी एसीबी की टीम भी परेशान हो गई. एसीबी की टीम उसे इलाज के लिए बेंगाबाद के सरकारी अस्पताल ले गयी. प्राथमिक उपचार के बाद दीपक को गिरिडीह सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया. जानकारी मिली है कि एक साइबर अपराध के मामले में डायरी में मदद के नाम पर दीपक कुमार को पांच हजार रिश्वत देने महिला व पुरुष थाने पहुंचे थे. हालांकि एसीबी के अधिकारी दीपक कुमार की स्थिति ठीक होने के बाद ही कुछ बताने की बात कर रहे हैं.
बुलेट से आए एक महिला व पुरुष थाने में दे रहे थे रिश्वत
गिरिडीह जिले में एसीबी (भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो) की टीम को आज शनिवार को सफलता मिली है. बेंगाबाद थाना के इंस्पेक्टर के रीडर की जिम्मेदारी संभाल रहे सिपाही दीपक कुमार को एसीबी धनबाद की टीम ने पांच हजार रुपये रिश्वत लेते रंगेहाथ धर दबोचा. इस दौरान दीपक कुमार की हालत बिगड़ गयी और उसे एसीबी की टीम ने अस्पताल में ले जाकर जांच करायी. बताया जा रहा है कि रिश्वत की रकम देने उसे एक महिला व एक युवक बुलेट से थाना पहुंचे थे. एसीबी के हाथ लगते ही दीपक कुमार की तबीयत बिगड़ गई. स्थिति को देखते हुए एसीबी की टीम ने उसे इलाज के लिए बेंगाबाद के सरकारी अस्पताल में जांच करायी. प्राथमिक इलाज के बाद दीपक को गिरिडीह सदर अस्पताल रेफर कर दिया गय।
अरेस्ट होते ही दीपक की हालत बिगड़ी
बताया जा रहा है कि बेंगाबाद थाना के इंस्पेक्टर के रीडर की जिम्मेदारी संभाल रहे सिपाही दीपक कुमार को गंभीरावस्था में अस्पताल से बाहर निकाला गया और ऑक्सीजन के सहारे सदर अस्पताल ले जाया गया. इस बीच दीपक कुमार कई बार बेहोश भी हो गया. जैसे-जैसे दीपक की स्थिति गंभीर हो रही थी एसीबी टीम के अधिकारियों की भी सांसें फूल रही थी. सुरक्षा के लिहाज से अस्पताल को चारों तरफ से घेर लिया गया था. किसी के भी आने-जाने पर सख्त प्रतिबंध लगा दिया गया था.
साइबर अपराध के मामले में मदद के लिए ले रहा था रिश्वत
बेंगाबाद थाना के इंस्पेक्टर के रीडर की जिम्मेदारी संभाल रहे सिपाही दीपक कुमार के इलाज के दौरान पत्रकारों को भी अंदर जाने व कैमरा ले जाने की मनाही थी. जानकारी मिली है कि एक साइबर अपराध के मामले में डायरी में मदद के नाम पर दीपक कुमार को पांच हजार रिश्वत देने महिला व पुरुष थाना पहुंचे थे. हालांकि एसीबी के अधिकारी दीपक कुमार की स्थिति ठीक होने के बाद ही कुछ बताने की बात कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *