Monday, July 15, 2024
Homeकतरासजल संकट ।। बूंद-बूंद पानी के लिए तरसता छाताबाद दस नंबर के...

जल संकट ।। बूंद-बूंद पानी के लिए तरसता छाताबाद दस नंबर के निवासियों का फूटा गुस्सा 

चैतुडीह पानी टंकी पर काटा बवाल, माडा एसडीओ व कर्मियों के साथ नागरिकों का नोकझोंक, आश्‍वासन के बाद शांत हुए लोग

कतरास: शुक्रवार 14 जून को छाताबाद दस नंबर के नागरिकों का स‍ब्र का बांध आखिरकार टूट ही गया। पिछले कई महीनों से पानी के लिए पानी-पानी हो रहे लोगों ने कतरास चैतूडीह पानी टंकी के समीप जमकर बवाल काटा। नियमित जलापूर्ति की मांग को लेकर छाताबाद दस नंबर एवं आसपास के निवासियों ने पानी टंकी में कार्यरत माडा कर्मियों को सुबह को घंटों बंधक बनाए रखा। नागरिकों के आक्रोश को देखते हुए सुबह करीब दस बजे माडा के एसडीओ कौशलेंद्र कुमार यादव को मौके पर आना पाड़ा। एसडीओ श्री यादव को भी नागरिकों के कोपभाजन का शिकार बनना पड़ा।

माडा एसडीए ने सुनी जनता की फरयाद

पेयजल की समस्या से त्राहिमाम छाताबाद दस नंबर, आठ नंबर, पांच नंबर, सोलह नंबर एवं मालकेरा बस्ती के नागरिकों की समस्या को एसडीओ कौशलेंद्र कुमार यादव ने बड़े गौर से सुना। नागरिकों ने श्री यादव को बताया कि पानी की मिल्लत से वे बहुत परेशान हैं। ऐसा पिछले चार-पांच महीनों से चल रहा है। उन्हें टेंकर से पानी खरीदना पड़ रहा है। लोगों ने बताया कि नियमित जलापूर्ति नहीं होने के कारण उन्हें कामकाज छोड़कर पहले पानी की व्यवस्था में निकलना पड़ता है। सप्ताह में केवल एक दिन ही जलापूर्ति की जा रही है। पहज पांच/दस मिनट में ही नल बंद हो जाता है, जिसके कारण पर्याप्त पानी नहीं मिल पाता है।

माडा एसडीओ को लोगों ने सौंपा मांगपत्र

मौके पर भाजपा के कतरास मंडल मीडिया प्रभारी मुकेश झा के नेतृत्व में स्थानीय नागरिकों ने माडा एसडीओ कौशलेंद्र कुमार यादव को एक मांगपत्र सौंपा। अपने मांगपत्र में नागरिकों ने कहा है कि कतरास चैतुडीह टावर से तीन-चार दिनों में जलापूर्ति की जाती है। दो से पांच मिनट तक ही पानी का सप्लाई मिलता है। नागरिकों ने पत्र में कहा कि माडा के अलावे जलापूर्ति का कोई दूसरा विकल्प नहीं नहीं है। पर्याप्त पानी नहीं मिलने के कारण छाताबाद दस नंबर, आठ नंबर, सोलह नंबर, पांच नंबर व मालकेरा बस्ती के लोगों को पानी के लिए इस भीषण गर्मी में इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। बीस से पच्चीस हजार आबादी वाला क्षेत्र में महज दो से पांच मिनट के जलापूर्ति से जनता में काफी रोष है। नागरिकों ने बंद धर्माबांध जलापूर्ति को पुन: चालू करने व तोपचांची झील से पर्याप्त जलापूर्ति करने की मांग एसडीओ से की है।

तोपचांची झील में पानी की कमी समस्या का कारण:एसडीओ

पत्रकारों से बात करते हुए माडा एसडीओ कौशलेंद्र कुमार यादव ने कहा कि पर्याप्त जलापूर्ति नहीं होने के कारण जनता आक्रोश में है। उन्होंने कहा कि लोगों की मांगे जायज हैं। श्री यादव ने कहा कि यह समस्या तोपचांची झील में पर्याप्त पानी नहीं रहने के कारण उत्पन्न हुई है। झील में पानी नहीं रहने के कारण पानी का दबाव कम रहने के कारण भी उचित पानी नहीं मिल पा रहा है। श्री यादव ने कहा कि पानी की राशनिंग करने की जरूरत है। एसडीओ ने बताया कि लोगों के मुताबिक समरूप तरीके से पानी की राशनिंग नहीं की जा रही है। किसी क्षेत्र में ज्यादा तो कहीं कम पानी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि इस शिकायत की वे तत्काल जांच करते हुए इस समस्या को दूर किया जाएगा। एसडीओ श्री यादव ने कहा कि लोगों ने पानी की समस्या को लेकर चार बिंदुओं पर उनका ध्‍यान आकृष्‍ट करवाया है। इन बिंदुओं पर आज से ही काम शुरू कर दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने बारिश की निर्भरता की ओर भी इशारा किया। उन्होंने कहा कि सप्ताह भर में बारिश हो गई तो पानी का प्रेशर बढ़ेगा, जिससे जलापूर्ति की समस्या दूर होगी।

टेंडर पास होते ही तोपचांची झील का होगा जीर्णोंद्दार

पूछे जाने पर एसडीओ कौशलेंद्र कुमार यादव ने बताया कि तोपचांची झील की जीर्णोंद्दार की प्रक्रिया चल रही है। इसके लिए टेंडर की प्रक्रिया चल रही है। माडा ने अपनी स्थि‍तियों व आवश्‍यकताओं से झारखंड सरकार के नगर विकास को अवगत करा चुकी है। इसके लिए डीपीआर तैयार किया जा रहा है। तोपचांची झील के जीर्णोद्दार होने से कतरास-धनबाद के नागरिकों को लाभ पहुंचेगा।

एसडीओ ने धर्मांबांध जलापूर्ति का लिया जायजा

छाताबाद दस नंबर व आसपास की जनता धर्माबांध जलापूर्ति से बहुत आस लगी हुई। विशेष अग्राह के बाद एसडीओ कौशलेंद्र कुमार यादव धर्माबांध जलापूर्ति स्थल देखने धर्माबांध रवाना हुए। उनके साथ माडा सेवानिवृत कर्मी संपत सिंह समेत माडा के कार्यालय प्रभारी भी मौजूद थे। माडा एसडीओ सबसे पहले धर्माबांध बीसीसीएल के बंद चानक पहुंचे, जहां से पिट वाटर की सप्लाई दी जाती है। इसके बाद वे तेतुलिया वाटर ट्र‍िटमेंट प्लांट का भी जाएजा लिया। तेतुलिया स्थ‍ित वाटर ट्र‍िटमेंट प्लांट के सभी बेडों की स्थिति से अवगत हुए। साथ ही उन्होंने पंप हाउस का भी जाएजा लिया। मौके पर पूर्व माडाकर्मी संपत सिंह ने माडा एसडीओ को पंप एवं अन्य उपकरण चोरी हो जाने की घटना से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि पंप व अन्य उपकरण उपलब्ध करा दिए जाएंगे तो यहां से पूर्व की भांति जलापूर्ति करना मुमकीन है। धर्माबांध चानक पर तैनात निजी पंप ऑपरेटर ने बताया खदान के अंदर काफी मात्रा में पानी उपलब्ध है। वर्तमान में दो शिफ्ट में पंप चल रहा है, जिसके माध्‍यम से तेतुलिया, धर्माबांध एवं अन्य इलाकों में जलापूर्ति की जाती है। पूछे जाने पर माडा एसडीओ ने बताया कि धर्माबांध जलापूर्ति का उन्होंने जायजा लिया है। पंप एवं अन्य उपकरण की कमी है। उन्होंने नोट कर लिया है। आगे की कार्रवाई के लिए वे अपने एमडी को लिखेंगे। जितना जल्दी हो सके, धर्माबांध जलापूर्ति से भी छाताबाद दस नंबर एवं आसपास के निवासियों को पिट वाटर उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा।

मौके पर ये लोग थे शामिल

भाजपा के मुकेश झा, पूर्व पार्षद महेश पासवान, पत्रकार मुस्तकीम अंसारी, जितेंद्र शर्मा, दुर्गा ठाकुर, पोदिन भुइंया, दिलीप शर्मा, संजय शर्मा, इमरान अंसारी, सूरज दास, रमेश कुमार, दीपक कुमार, मंजय पासवान, सुग्रीव चौहान, अब्दुल सत्तार अंसारी, आबिद अंसारी, अनवर अंसारी, राजेंद्र शर्मा, राजेश भुइंया, 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments