Tuesday, July 23, 2024
Homeलेखआध्‍यात्म:‘पोथी पढ़ पढ़ जग मुआँ पंडित बना न कोय, ढाई आखर प्रेम...

आध्‍यात्म:‘पोथी पढ़ पढ़ जग मुआँ पंडित बना न कोय, ढाई आखर प्रेम का पढ़े सो पंडित होय।’

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments