Wednesday, May 29, 2024
HomeझरियाJHARIA | विद्युत विभाग के लापरवाही का शिकार हुए पीड़ित परिवार ने...

JHARIA | विद्युत विभाग के लापरवाही का शिकार हुए पीड़ित परिवार ने लगाई भाजपा नेत्री से न्याय की गुहार

JHARIA | बिजली विभाग की लापरवाही का खामियाजा बीते 8 नवंबर 2021 को पांच लोगों को भुगतना पड़ा था। हाई टेंसन 11,000 वाट के बिजली तार की चपेट में आने से झरिया स्थित बिहार बिल्डिंग के समीप पांच लोग बुरी तरह झुलस गए थे। झुलसे लोगों में एक ही परिवार के चार सदस्य थे, जिसमें दो सदस्य की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। तथा दो सदस्य बुरी तरह से झुलस गए थे जिनका अभी तक वेल्लोर के सीएमसी में इलाज जारी है। छठ पर्व के दौरान हुए इस दर्दनाक हादसे को याद कर अभी भी लोगों के रूह कांप जाते है। अचानक हुए इस हादसे से पीड़ित परिवार के लोगों को झकझोर कर रख दिया था। उस समय पीड़ित परिवार के लोगों को इंसाफ व मुआवजा दिलाने के लिए झरिया की जनता सड़को पर उतर जमकर प्रदर्शन किया। मामला बढ़ता देखब बिजली विभाग भी हरकत में आया और पीडित परिवार को हर संभव मदद करने की बात कही। के अधिकारियों ने भी मदद के लिए हाथ बढ़ाए। बिजली विभाग के अधिकारियों ने उचित मुआवजा देने की बात कह किसी प्रकार मामले को शांत करवाया था। लेकिन दो वर्ष बीत जाने के बाद भी पीड़ित परिवार दर दर के ठोकर खाने को है विवश। विधुत विभाग द्वारा मुवावजा व ईलाज का खर्च ना मिलने से पीड़ित परिवार के लोग आज भी खुद को ठगा महसूस कर रहे है। जिसको लेकर बुधवार की शाम परिवार के सदस्य राहुल केशरी ने भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रागनी सिंह से मुलाकात कर अपनी परेशानियों को रखा। जिसपर भाजपा नेत्री रागनी सिंह ने भी नाराजगी जाहिर करते हुए राहुल केशरी को आस्वस्त किया कि इस मामले की शिकायत विभाग के वरीय अधिकारियों करेंगी। अगर इस पर भी बात नही बनी तो सड़क पर उतर जोरदार आंदोलन करेंगी। पीड़ित परिवार के सदस्य राहुल केशरी ने बताया कि 8 नवंबर 2021 को एक ओर जहां लोग आस्था के छठ पर्व भगवान भास्कर को लेकर अपने अपने घरों को साफ सफाई कर विधिवत पूजा की तैयारी कर रहे थे। तभी विधुत विभाग के लापरवाही के कारण बिहार बिल्डिंग स्थित सुरेश प्रसाद केशरी के घर के छत पर हाई टेंशन बिजली का कहर बनकर टूटा और एक ही परिवार एक महिला व दो बच्चे बुरी तरह से झुलस गई। जिसमें 30 वर्षीय मनिता केशरी की ईलाज के दौरान मृत्यु हो गई। जबकि अन्य सदस्यों का दो वर्ष बीत जाने के बावजूद इलाज जारी है। इस घटना के बाद विधुत विभाग के अधिकारियो ने पीड़ित परिवार से उनके निवास स्थान मे जाकर लिखित रूप से पत्र देते हुए कहा था की विद्युत विभाग द्वारा जो भी मुबावजा बनता वह सभी दिया जाएगा। अगर कंपनी द्वारा नही मिलेगा तो एसडीओ संजय कुमार सिंह जेई राकेश कुमार सिंह सीनियर स्कुटीव मनीष चंद्र मूर्ति आदि अपने मद से 6 लाख रुपए नगद देने का काम करेगें। लेकिन पिछले चौदह माह से विभागीय अधिकारियों व दफ्तर के चक्कर लगाने के बावजूद उन्हें पूरा मुआवजा राशि नही मिला। इस से वह ठगा महसूस कर रहे है। जिसको लेकर भाजपा नेत्री से मिल इंसाफ दिलाने की गुहार लगाई है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments