Thursday, June 20, 2024
HomeधनबादDHANBAD : दो दिवसीय राज्य स्तरीय डीएवी राष्ट्रीय खेल महोत्सव का हुआ...

DHANBAD : दो दिवसीय राज्य स्तरीय डीएवी राष्ट्रीय खेल महोत्सव का हुआ समापन

धनबाद: डी.ए.वी कोयलानगर में दो दिवसीय डी.ए.वी. राष्ट्रीय खेल उत्सव का शानदार समापन हुआ। इसके तहत बैडमिंटन, क्रिकेट, तैराकी, टेबल टेनिस, कबड्डी, खो-खो की सभी प्रतियोगिताएं संपन्न हुईं। इस प्रतियोगिता में डीएवी कोयलानगर, हेहल, गांधीनगर, कांके, नीरजा सहाय, बिष्टुपुर, भरेचनगर, सरिया, झींकपानी, कडरू, चाईबासा, रजरप्पा समेत 30 विद्यालयों से आए हुए कुल 400 प्रतिभागियों ने भाग लिया।प्रतियोगिता में शामिल सभी प्रतिभागियों ने अपनी प्रतिभा का शानदार प्रदर्शन किया तथा प्रतियोगिता के दौरान खेल भावना का सर्वश्रेष्ठ परिचय दिया। गौरतलब है कि डीएवी राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता के दूसरे दिन पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया।

जिसमें झारखंड प्रक्षेत्र- ‘सी’ के सहायक क्षेत्रीय पदाधिकारी सह विद्यालय के प्राचार्य एन.एन. श्रीवास्तव, विशिष्ट अतिथि करुणा श्रीवास्तव, विभिन्न विद्यालयों से आए हुए खेल शिक्षक, अनुरक्षक शिक्षक एवं विद्यालय परिवार के समस्त शिक्षकगण, शिक्षकेतर कर्मचारी गण तथा छात्र-छात्राएं मुख्य रूप से उपस्थित थे। इस विशिष्ट अवसर पर झारखंड प्रक्षेत्र-सी के सहायक क्षेत्रीय पदाधिकारी सह विद्यालय के प्राचार्य एन.एन. श्रीवास्तव ने समापन समारोह में उपस्थित सभी खिलाड़ियों का अभिनंदन किया। उन्होंने शांतिपूर्वक इस दो दिवसीय खेल महोत्सव के समापन के लिए सभी को बधाई दी। साथ ही उन्होंने सभी विजेताओं को राष्ट्रीय स्तर पर उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन की मंगल कामना की। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में बच्चे विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं के माध्यम से अपने सपने को साकार कर समाज में अपनी एक विशिष्ट जगह सुनिश्चित करने में सफल हो रहे हैं तथा विश्व पटल पर सफलता का परचम लहरा रहे हैं।उन्होंने प्रतियोगिता में शामिल सभी प्रतिभागियों को भविष्य में श्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए शुभकामनाएं दी।इस अवसर पर विभिन्न रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति की गई। तत्पश्चात पुरस्कार वितरण समारोह की प्रक्रिया संपन्न हुई। अंडर-19 बैडमिंटन के बालक वर्ग में डीएवी बछरा ओवरऑल चैंपियन बना तथा नीरजासहाय उपविजेता रहा। अंडर-19 बैडमिंटन के बालक वर्ग में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का खिताब डीएवी बछरा के प्रियांशु कुमार तिवारी को मिला। वहीं अंडर -19 बैडमिंटन के बालिका वर्ग में डीएवी बरियातू ओवरऑल चैंपियन व उपविजेता का खिताब डीएवी गुमला को मिला।अंडर-19 बैडमिंटन के बालिका वर्ग में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का खिताब बरियातू डीएवी की अनन्या सिंह को मिला। अंडर- 17 बैडमिंटन के बालक वर्ग में डीएवी कोयला नगर विजेता तथा डीएवी बरियातू उपविजेता रहे तथा कोयलानगर के उदिता दयाल सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी घोषित किए गए। अंडर -17 बैडमिंटन के बालिका वर्ग में डीएवी चाईबासा विजेता तथा डीएवी कोयला नगर उपविजेता रहे। डीएवी कोयला नगर की पीहू सिंह सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी घोषित हुईं। अंडर-19 टेबल टेनिस के बालक वर्ग में डीएवी कोयलानगर ओवरऑल चैंपियन बना। अंडर- 14 बैडमिंटन के बालिका वर्ग में कोयला नगर ओवरऑल चैंपियन बना तथा डीएवी गुमला उपविजेता रहा। सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का खिताब कोयला नगर की प्रियंका कुमारी को मिला।अंडर -14 फ्रीस्टाइल के बालिका वर्ग में 50 मीटर की प्रतियोगिता में डीएवी जामाडोबा की संजना कुमारी को स्वर्ण पदक मिला। अंडर- 14 फ्रीस्टाइल के बालिका वर्ग में 100 मीटर की स्पर्धा में डीएवी सिल्ली की आरती ओराव ने स्वर्ण पदक जीता। अंडर -14 ब्रेस्ट स्ट्रोक के बालिका वर्ग में 100 मीटर की प्रतियोगिता में डीएवी एम.एस. पब्लिक स्कूल की जोशीका ओराव ने स्वर्ण पदक जीता।क्रिकेट के बालक वर्ग के अंडर- 14 में डीएवी कोयलानगर ने डीएवी गिद्दी को 8 रन से पराजित कर विजेता का खिताब जीता। अंडर- 14 क्रिकेट के बालिका वर्ग में डीएवी बिस्टुपुर विजेता बना। अंडर- 17 क्रिकेट के बालिका वर्ग में डीएवी पुंदाग विजेता हुआ। वहीं दूसरी ओर अंडर-19 क्रिकेट के बालिका वर्ग में डीएवी रजरप्पा विजेता बना।सभी विजेताओं को मेडल प्रदान कर सम्मानित किया गया।गौरतलब है कि इस दो दिवसीय डीएवी राष्ट्रीय खेल महोत्सव का समापन खेलध्वज को सम्मान के साथ उतारने की औपचारिक क्रिया से संपन्न हुई। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय की शिक्षिका मौसमी दास एवं पवन पांडे ने किया।इस दो दिवसीय खेल महोत्सव को सफल बनाने में विद्यालय के प्राचार्य एन.एन. श्रीवास्तव, वरिष्ठ शिक्षक अरविंद पात्रा,खेल शिक्षक मनीष कुमार,शरद कुमार अनिल कुमार अरूप चक्रवर्ती, बी.के.सिंह, मनीष कुमार सिंह, एस.के. घोष,नमिता पांडा रोजी झा रोजी रानी मौसमी दास पपिया चक्रवर्ती आशीष चौबे आरके प्रसाद देवाशीष दत्त परमेश्वर दुबे इंद्रनील मुखर्जी रश्मि गांगुली श्रीमती गीता चौबे श्री प्रकाश रंजन सहाय शंकर इत्यादि समेत विद्यालय के सभी शिक्षक एवं शिक्षिकाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments