February 23, 2024

फिलहाल एसीबी आगे की कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार उमेश सिंह को जेल भेजने की तैयारी में जुटी है। वही इस काम में और कितने लोग शामिल है उसकी भी जांच पड़ताल की जा रही है मगर जिस तरह से सर्टिफिकेट बनाने के नाम पर पैसे की मांग की जा रही है ऐसे में सदर अस्पताल की साख पर कुछ कर्मियों द्वारा बट्टा लगाया जा रहा है प्रबंधन को जांच कर ऐसे कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की जरूरत है

धनबाद : धनबाद एसीबी ने इस वर्ष का पहला ट्रैप करते हुए शुक्रवार को धनबाद सिविल सर्जन कार्यालय के क्लर्क उमेश कुमार चार हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया।इस संबंध में जानकारी देते हुए एसीबी डीएसपी जितेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि धनबाद के बैंक मोड़ थाना क्षेत्र स्थित जोड़ाफाटक निवासी उदय कुमार गुप्ता को सिविल सर्जन कार्यालय से दिव्यांग सर्टिफिकेट बनवाना था, लेकिन सिविल सर्जन कार्यालय में पदस्थापित क्लर्क उमेश द्वारा इसके एवज में उदय गुप्ता से 4 हजार रुपये रिश्वत की मांग की जा रही थी। इसके बाद उदय कुमार ने इसकी लिखित शिकायत धनबाद एसीबी को दी। शिकायत के सत्यापन के बाद उमेश सिंह को सिविल सर्जन कार्यालय से ही चार हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा गया।एसीबी ने गिरफ्तार क्लर्क के कार्यालय और आवास को भी खंगाला। फिलहाल एसीबी आगे की कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार उमेश सिंह को जेल भेजने की तैयारी में जुटी है। वही इस काम में और कितने लोग शामिल है उसकी भी जांच पड़ताल की जा रही है मगर जिस तरह से सर्टिफिकेट बनाने के नाम पर पैसे की मांग की जा रही है ऐसे में सदर अस्पताल की साख पर कुछ कर्मियों द्वारा बट्टा लगाया जा रहा है प्रबंधन को जांच कर ऐसे कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की जरूरत है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *