February 23, 2024

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कई राज्यों में कोविड के बढ़ते मामले को देखते हुए आरटीपीसीआर जांच की संख्या और बढ़ाने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि लोगों को पैनिक होने की जरूरत नहीं है.

धनबाद : कोरोना के नए सब वैरिएंट जेएन 1 ने देश में दस्तक दे दी है. केरल में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है. वहीं बिहार में भी कोरोना के दो मरीज मिल चुके हैं. लंबे समय बाद राजधानी पटना में दो मरीज मिले तो स्वास्थ्य महकमा अलर्ट मोड पर आ गया. दोनों मरीजों की ट्रैवल हिस्ट्री है जो बाहर से आए हैं. एक मरीज असम तो दूसरा केरल से यात्रा करके बिहार आया है. बिहार में भी कोरोना से सतर्क रहने के लिए अलर्ट जारी किया गया. अस्पतालों में कोविड वार्ड तैयार किए गए हैं.
मुख्यमंत्री ने की बैठक
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कई राज्यों में कोविड के बढ़ते मामले को देखते हुए आरटीपीसीआर जांच की संख्या और बढ़ाने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि लोगों को पैनिक होने की जरूरत नहीं है. सभी लोग सजग और सतर्क रहें. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा है कि कोविड की निर्धारित मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के अनुरूप अस्पतालों में दवा, उपकरण, बेड, ऑक्सीजन, मानव बल और अन्य सभी जरूरी व्यवस्थाओं की उपलब्धता रखे.पटना में कोरोना की दस्तक के बाद लोग अलर्ट हो गए हैं. पटना की सड़कों पर लोगों को मास्क लगाकर चलते फिर एकबार देखा जाने लगा है. वहीं बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सोशल मीडिया और अन्य प्रचार माध्यमों से लोगों को कोरोना के प्रति सतर्क एवं जागरूक करें. अस्पतालों में सभी लोग मास्क का उपयोग करें.
स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि हाल में ओमिक्रॉन के जेएन-1 वेरिएंट के कई मामले देश में मिले हैं. बिहार में भी कोरोना के 2 ऐसे मामले हैं, जो राज्य में बाहर से आए लोगों में मिले हैं. यह वेरिएंट बहुत घातक नहीं है. कोरोना के पाये गये दोनों मरीज होम आइसोलेशन में हैं और स्वस्थ हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी जिलों के अस्पताल में आनेवाले सभी चिकित्सक, कर्मियों और मरीजों के साथ परिजनों को मास्क का प्रयोग करें. इसको लेकर सिविल सर्जनों को एडवाइजरी भी जारी कर दी गयी है, जिसमें उनको कोविड प्रोटोकॉल के पालन का निर्देश दिया गया ह
स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि सभी जिलों में कोरोना को लेकर आरटीपीसीआर जांच तेज कराने का निर्देश दिया गया है. बता दें कि पटना में कोरोना की रफ्तार पहले अधिक तेज पायी गयी है. जिसे लेकर राजधानी के लोग विशेष अलर्ट दिखने लगे हैं.
गया में कोविड टेस्ट
राज्यभर में कुल 4900 सैंपलों की जांच की गयी. राज्य में किये गये जांच में भी कोई व्यक्ति पॉजिटिव नहीं पाया गया.
कोरोना एडवाइजरी के तहत शनिवार से राज्य के पटना, गया और दरभंगा एयरपोर्ट पर यात्रियों के सैंपलों की जांच शुरू हो गयी. बिहार आनेवाली हर फ्लाइट से उतरनेवाले दो-तीन यात्रियों का रैंडम सैंपल लेकर जांच किया गया. एयरपोर्ट पर रैपिड किट से जांच की गयी. जांच में एक भी यात्री का सैंपल पॉजिटिव नहीं पाया गया. एयरपोर्ट पर अगर कोई व्यक्ति पॉजिटिव पाया जायेगा तो उनका आरटीपीसीआर जांच करायी जायेगी. साथ ही कोरेनटाइन में रखने का परामर्श दिया जायेगा.
बता दें कि स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने कोरोना की रोकथाम को लेकर शुक्रवार को राज्य के सभी सिविल सर्जनों के साथ समीक्षा की थी. उन्होंने पटना, गया और दरभंगा एयरपोर्ट पर आनेवाले यात्रियों की रैंडम जांच कराने का निर्देश दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *