February 22, 2024

इस कार्यक्रम मे किशोरों ने अत्यंत सरल व सहजता से प्राणायाम, योग, मानवीय मूल्य की ज्ञान प्राप्ति की और आर्ट ऑफ़ लिविंग की अनूठी लयबद्ध साँस प्रक्रिया - सुदर्शन क्रिया की भी अनुभूति की। स्टेज फीअर, एग्जाम प्रेशर, मन एकाग्र करने प्रणाली भी सीखी। निरंतर ध्यान के अभ्यास करने से मन शांत और जीवन मे कुशलता आती है।

धनबाद : दी आर्ट ऑफ लिविंग की चिल्ड्रन एंड टींस मेधा योगा-1 कार्यशाला रैमसन रेसिडेंसी, धैया मे झारखंड स्टेट चिल्ड्रन टींस कोऑर्डिनेटर सोनाली सिंह और एबीसी डिस्ट्रिक्ट मिडिया प्रभारी मयंक सिंह के नेतृत्व मे सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम मे किशोरों ने अत्यंत सरल व सहजता से प्राणायाम, योग, मानवीय मूल्य की ज्ञान प्राप्ति की और आर्ट ऑफ़ लिविंग की अनूठी लयबद्ध साँस प्रक्रिया – सुदर्शन क्रिया की भी अनुभूति की। स्टेज फीअर, एग्जाम प्रेशर, मन एकाग्र करने प्रणाली भी सीखी। निरंतर ध्यान के अभ्यास करने से मन शांत और जीवन मे कुशलता आती है।
इस कार्यशाला से बच्चों के माता पिता भी अत्यंत प्रसन्न हुए और आगे भी बच्चों को ध्यान, ज्ञान से जुड़े रहने की आवश्यकता बतायी। कार्यशाला मे धनबाद पब्लिक स्कूल,कार्मेल धनबाद, राजकमल सरस्वती विद्या मंदिर, डीएवी कुसुंडा इत्यादि के स्टैंडर्ड ८ से ११के छात्र, छात्राएं ने भाग लिया। कार्यशाला मे उरूज़ को भस्त्रिका प्राणायाम और आर्य, अभिनव, ने कंसंट्रेशन प्राणायाम, वहीं राजवीर, वैष्णवी, अनन्या, नंदिका ने सुदर्शन क्रिया को अत्यन्त पसंद किया। सभी प्रतिभागियों ने सुदर्शन क्रिया का अभ्यास निरंतर करने का भी प्रण लिया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में जूही महतो, सोनी कुमारी, झुमु सिंह, गौरी शंकर लोहनी इत्यादि का योगदान रहा। राजवीर, अर्णव,अभिनव,आर्य, नंदिका,वैष्णवी,उरूज़,अनन्या, अवनी धृति इत्यादि ने भाग लिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *