February 25, 2024

धनबाद नगर के लिए सौभाग्य का विषय है कि एकल गौ ग्राम योजना का अखिल भारतीय प्रथम गौ ग्राम कुंभ धनबाद नगर में आगामी 23, 24, 25 दिसंबर 2023 को आयोजित होने जा रहा है। धनबाद क्लब में मंगलवार को एकल अभियान के पदाधिकारियों ने एकल गौ  ग्राम योजना का अखिल भारतीय प्रथम कुंभ की कार्यक्रमों  की जानकारी देते हुए बताया कि गर्व हो रहा है कि आज जिस एकल विद्यालय की शुरुवात इसी धनबाद से  1989 से हुआ था।

धनबाद: धनबाद नगर के लिए सौभाग्य का विषय है कि एकल गौ ग्राम योजना का अखिल भारतीय प्रथम गौ ग्राम कुंभ धनबाद नगर में आगामी 23, 24, 25 दिसंबर 2023 को आयोजित होने जा रहा है। धनबाद क्लब में मंगलवार को एकल अभियान के पदाधिकारियों ने एकल गौ  ग्राम योजना का अखिल भारतीय प्रथम कुंभ की कार्यक्रमों  की जानकारी देते हुए बताया कि गर्व हो रहा है कि आज जिस एकल विद्यालय की शुरुवात इसी धनबाद से  1989 से हुआ था। आज वह देश के सभी प्रांतों तक 1लाख से भी अधिक गांवों में संचालित होने लगा है ठीक उसी प्रकार एकल अभियान के ही  पंचमुखी शिक्षा का एक आयाम श्रीहरि सत्संग समिति दवारा गौग्राम  योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के माध्यम से यह प्रयास किया जा रहा है कि भारतीय देशी गायों के नस्ल को कैसे बचाया जाए। किसी  ना किसी कारणवश गांव से देशी नस्ल के गाय-बछड़े का पलायन हो रहा है। जिसके कारण  एक और जहां हल  बलों की खेती समाप्त हो रही है वहीं दूसरे और खेतों के लिए आवश्यक उर्वरक गोबर-गोमूत्र की कमी हो रही हो जिस कारण रासायनिक खेती का विस्तार तथा उसका दुष्प्रभाव हम देख रहे हैं। खास बिना दूध देने वाले रही होगी या महानगर की गौशालाओं में अस्वाभाविक जीवन जीने को मजबूर है या फिर कत्लखानों में जाती जा रही है। भारत आज दुनिया का सबसे बड़ा गोवंश का मांस निर्यातक देश बना हुआ है। इन सब विषयों को देखते हुए कि देशी नस्ल की गाये कैसे गांव में बच सके तथा पुन जैविक खेती पर निर्भर हो और बिना दूध देने वाली बूढ़ी गायों को भी आर्थिक रूप से स्वावलंबी जीवन जीने लायक बनाया जाय इसके प्रयास के रूप में गौ ग्राम योजना को शुरुवात हुआ। गौग्राम योजना का नारा है। गाय का घर किसान का घर, गाय बिकेगी नहीं तो कटेगी नहीं।गौ ग्राम योजना के द्वारा नगर की गोशालायों से किसानों के घर तक ऐसी गार्यों को पहुंचाया जाता है। वहां उनके घर की महिलाओं को प्रशिक्षण देकर उन गायों के गोबर से दीपक तथा धूपबत्ती बनाई जा रही है। इनके लिए सभी परिवारों में दीपक बनाए हेतु सांचा तथा अन्य को सामग्री लगते हैं वह संस्था की ओर से उपलब्ध कराई जाती है। धनबाद, झरिया, कतरास, हजारीबाग, गिरिडीह तथा देवघर की गौशालाओं से अब तक 300 अधिक गायों को किसानों के घर पहुंचाया जा चुका है। जिसके माध्यम से 300 गांवों के लगभग 3000 परिवारों को प्रशिक्षित कर दीपक, धूपबत्ती तया जैविक खाद बनाने का काम प्रारंभ किया गया है। एकल अभियान ने इस वर्ष दीपावली के त्योहार को गो दीपोत्सव के रूप में मनाने का संकल्प लिया था जिस अवसर पर इन गांवों की महिलाओं द्वारा बनाए गए दीप आई धूपबती देश के विभिन्न महानगरों के लगभग 30000 परिवारों तक पहुंचाए गए और सबों के घरों में गोबर से बने दीप ही जले।गत दो वर्षों के इस सफल प्रयोग को अब देशव्यापी बनाने की योजना है। इस निमित्त धनबाद महानगर में यह गौग्राम कुंभ का आयोजन किया जा रहा है जिसमें विशिष्ट अतिथि के रूप में डॉ सुब्बाराव साइंटिस्ट इसरो, अश्वनी उपाध्याय एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट, रामदत्त चक्रधर अखिल भारतीय सह सरकार्यवाह रा. स्व. संघ, शंकर लाल आखिल भारतीय गौ ग्राम प्रमुख रा. स्व. संघ,आलोक कुमार अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख रा. स्व. संघ एवं संपूर्ण देश से एकल अभियान से जुडे नगर संगठन तथा ग्राम संगठन के पदाधिकारी तथा सेवा व्रती कार्यकर्तागण भाग ले रहे हैं।23 दिसंबर को कुंभ में आए सभी प्रतिनिधियों को धनबाद के आस-पास 100 गांव में गौग्राम-वनयात्रा का कार्यक्रम रखा गया है। जहां उन्हें इन गोपालकों से मिलने तथा गौ उत्पाद देखने का प्रत्यक्ष अवसर मिलेगा।24 दिसंबर को धनबाद शहर के गोल्फ ग्राउंड में सार्वजनिक सभा होगी जिसमें धनबाद जिला में चल रहे एकल विद्यालय ग्रार्मो से लगभग 30000 गोपालक एवं किसान भाग लेने वाले हैं। 24 दिसंबर के रात्रि में ही टाउन हॉल में एकल अभियान द्वारा प्रशिक्षित वनवासी कथाकारों द्वारा एकल सुरताल का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा। 25 दिसंबर को आगंतुक प्रतिनिधियों का तीन दिनों से चल रहे इस कार्यशाला का समापन है।धनबाद नगर में इस कार्यक्रम के प्रति उत्साह निर्माण हो इस हेतु 17 दिसंबर को एक शोभायात्रा का भी आयोजन करने की योजना है।ज्ञातव्य हो कि वर्ष 2015 में भी धनबाद नगर में एकल अभियान का अखिल भारतीय परिणाम कुंभ का आयोजन किया गया था जिसमें भारतवर्ष के सभी प्रांतों के साथ साथ बाहर के भी कई देशों से प्रतिनिधिगण आए थे। आज के प्रेस वार्ता में महेंद्र अग्रवाला, अध्यक्ष, श्रीहरि गौग्राम योजना (झारखंड),केशव हडोडिया, अध्यक्ष, एफटीएस धनबाद चेप्टर रविन्द्र ओझा, अध्यक्ष, प्रभाग पी3, एकल अभियान, अनुराधा अग्रवाल, अध्यक्ष, महिला समिति धनबाद चैप्टर,आयुष तिवारी, उपाध्यक्ष, एकल फ्यूचर, ललन शर्मा, केंद्रीय अभियान प्रमुख, एकल अभियान, रोहित प्रसाद, सोमनाथ पूर्ति, नितिन हडोडिया संजय साहू उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *