February 23, 2024

मथुरा महतो ने आमंत्रण सहर्ष स्वीकार करते हुए सत्याग्रह में भाग लेने पर सहमति जताई। प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि झरिया के चारो तरफ आउटसोर्सिंग के तहत कोयला की खुली खदानों मे खनन चल रही है जिसमें मानक के अनुरूप कार्य नहीं हो रहा है । जला हुआ कोयला का राख ओवर बर्डेन के साथ शहर की घनी आबादी के नजदीक गिराया जा रहा है ।

झरिया: झरिया में व्याप्त वायु प्रदूषण के खिलाफ 17 से 18 फरवरी को आयोजित सत्याग्रह आंदोलन के तहत 24 घंटे का धरना का आमंत्रण लेकर एक प्रतिनिधि मंडल झारखण्ड सरकार के सचेतक सह टुंडी विधायक मथुरा प्रसाद महतो से मिल कर धरना में शामिल होने का आग्रह किया । मथुरा महतो ने आमंत्रण सहर्ष स्वीकार करते हुए सत्याग्रह में भाग लेने पर सहमति जताई। प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि झरिया के चारो तरफ आउटसोर्सिंग के तहत कोयला की खुली खदानों मे खनन चल रही है जिसमें मानक के अनुरूप कार्य नहीं हो रहा है । जला हुआ कोयला का राख ओवर बर्डेन के साथ शहर की घनी आबादी के नजदीक गिराया जा रहा है । ऊँचाई पर सुखी राख गिरने के कारण धूल कण उड़ कर शहर में प्रदूषण फैला रहा है जिसके कारण यहाँ के निवासी गंभीर बिमारीयों के शिकार हो रहे हैं। इससे ऊब कर झरिया के नागरिक धरना के मध्यम से अपनी आवाज सरकार तक पहुचाना चाहते हैं। 14 दिसंबर को रन फ़ॉर क्लीन एयर कार्यक्रम में हजारों लोगों ने सड़क पर उतर कर वायु प्रदूषण के खिलाफ आवाज बुलंद किया एवं इस पर नियंत्रण की गुहार लगाई, किन्तु बीसीसीएल की ओर से कोई पहल नही हुई है। इस रवैया से ऊबकर झरिया के नागरिक धरना पर बैठने को मजबूर हैं। विधायक मथुरा महतो ने कहा कि प्रदूषण के खिलाफ लंबी लड़ाई की जरूरत है। स्वच्छ हवा हमारा मौलिक अधिकार है। पर्यावरण संरक्षण के प्रति हम सब को जागरूक होने की आवश्यकता है। हम सत्याग्रह आंदोलन में जरूर भाग लेंगे । मैं इस सत्याग्रह आंदोलन को पूर्ण समर्थन देता हूँ। प्रतिनिधि मंडल में डॉ मनोज सिंह, अखलाक अहमद, कार्तिक तिवारी, सूरज कुमार आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *