Wednesday, June 19, 2024
HomeगोविंदपुरGVINDPUR : ग्लोबल स्कूल ऑफ़ इंडिया ने विज्ञान और कला प्रदर्शनी का...

GVINDPUR : ग्लोबल स्कूल ऑफ़ इंडिया ने विज्ञान और कला प्रदर्शनी का किया शानदार आयोजन

गोविंदपुर: ग्लोबल स्कूल ऑफ इंडिया, गोविंदपुर ने एक शानदार विज्ञान और कला प्रदर्शनी का आयोजन किया। जिसमें अद्भुत प्रोजेक्ट्स और कलात्मक सृजनों का अद्भुत संग्रह प्रस्तुत किया गया। इस प्रदर्शनी में विभिन्न क्षेत्रों के प्रतिष्ठित व्यक्तियों ने भाग लिया, जो शैक्षिक प्रतिभा, रचनात्मकता और दृष्टिकोणवादी शिक्षा का जश्न मना रहे थे।इस प्रदर्शनी में मुख्य अतिथि प्रफुल्ल कुमार बेहरा, आईआईटी आईएसएम धनबाद के पूर्व सहयोगी प्रोफेसर; विशिष्ट अतिथि डॉ. आनंद शंकर हाती, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, आईआईटी आईएसएम में सहायक प्रोफेसर, अतिथि एमडी आसिफ, झारखंड के पूर्व मलेरिया नियंत्रण अधिकारी और टीचर ट्रेनिंग कॉलेज मधुबनी से एमडी उस्मान शामिल हुए।ग्लोबल स्कूल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ. एस खालिद, चेयर पर्सन डॉ. निखत परवीन, प्राचार्या विद्या सिंह, मैनेजर ममता सिन्हा तथा सभी शिक्षकों और विद्यार्थियों के साथ मौजूद रहे।प्रदर्शनी ने विज्ञान प्रोजेक्ट्स का एक बेहद आकर्षक संग्रह प्रस्तुत किया, जिसमें स्मार्ट होम, होलोग्राम प्रोजेक्टर, चंद्रयान 3 प्रोजेक्ट, कचरा सफाईकर्ता, ट्रैफिक लाइट सेंसर, और अन्य नवाचार शामिल थे। साथ ही, कला और शिल्प खंड ने दर्शकों को हैरान कर दिया था, जिसमें खूबसूरत पोर्ट्रेट्स, मधुबनी पेंटिंग्स, लैंडस्केप्स, समकालीन और अमूर्त चित्रकला, और अन्य रचनात्मक अभिव्यक्तियों ने दर्शकों को मोहित किया।सभी प्रोजेक्ट्स नवाचारी और सराहनीय थे। निर्णायक मंडली के सदस्य आईआईटी आईएसएम के पूर्व प्रोफेसर प्रफुल्ल कुमार बेहेरा, आईआईटी आईएसएम के इलेक्ट्रिकल विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर आनंद शंकर हाती द्वारा निर्णय लिया गया।जिसमें जल स्तर संकेतक परियोजना ने पहला पुरस्कार जीता, ई एमपी गन ने दूसरा पुरस्कार प्राप्त किया और तीसरे पुरस्कार में दो प्रोजेक्ट्स, फायर अलार्म और टेस्ला कोइल के बीच टाई हुआ। लड़कियों की सुरक्षा उपकरण पर प्रोजेक्ट की विचारधारा और मेहनत को सम्मानित करते हुए सांत्वना पुरस्कार जीता।
कार्यक्रम का प्रारंभ सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ हुआ, जिसमें बच्चों ने योग की प्रस्तुति दी, आरंभ कपिता पर नृत्य, आज फगुने गीत पर झारखंड नृत्य, आत्मरक्षा पर नृत्य नाटिका, संस्कृत गीत द्वारा देश की विविधता को अभिव्यक्त किया गया।ग्लोबल स्कूल ऑफ इंडिया, गोविंदपुर, होलिस्टिक शिक्षा का दीप बन रहा है, जहां युवा मस्तिष्यों को पोषण दिया जा रहा है और नवाचार और रचनात्मकता की संस्कृति को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments