Wednesday, May 29, 2024
HomeझरियाJHARIA | हुजूर इधर भी हो नज़रे इनाएत, जलकुंभी व कचरे के...

JHARIA | हुजूर इधर भी हो नज़रे इनाएत, जलकुंभी व कचरे के जद में गोलकडीह का तालाब, साफ-सफाई नहीं होने से छठ ब्रतियों में नाराजगी

JHARIA (ARVIND SINGH)| हजूर एक नजर की इधर भी देख लेते, दुर्गा पूजा बीत गई दीपावली आस्था का छठ पर्व आने को है, लेकिन नही हो सकी है गोलकडीह वर्क सौप स्थित तालाब मे जलकुंभी व कचड़े की अंबार की साफ सफाई। जबकि जिस जगह पे अवस्थित तालाब है उसके इर्द गिर्द कई आउट सोर्सिंग कंपनी के आलावे बीसीसीएल कंपनी भी संचालित है। उसके बाद भी तालाब की नरकीय स्थिति बनी हुई है।इस तालाब पर आश्रित आज भी लगभग पांच हजार लोग हैं जो नीतदिन स्नान ध्यान कर अपने घरों में भी जरूरत बस पानी लेकर जाते है। जबकि सरकारी नियमानुसार कही भी अगर सरकारी या गैर सरकारी कंपनी संचालित होती है उस क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए समुचित व्यवस्था की जवाबदेही उस कंपनी की होती है। लेकिन उक्त तालाब के कुछ ही दुरी पर कई कंपनी चलने के बाद भी नरकीय हालात बनी हुई है आखिर इसकी जिम्मेवारी किसके हाथों में है। लगभग पंद्रह दिनों बाद आस्था का छठ पर्व आने को है जंहा लोग बड़ी संख्या मे नहाय खाय से लेकर भगवान भास्कर को अर्घ्य देने का काम महिला पुरुष करते हैं। ऐसे में लोगों को तालाब की नरकीय स्थिति देख चिंता बढ़ी हुई है। जबकि 3 नवंबर को नगर आयुक्त रवि राज शर्मा ने धनसार, झरिया अंतर्गत आने वाले तालाबों की साफ सफाई का निरीक्षण किया। इसके अलावा निगम कर्मियों को पर्व को लेकर विशेष ध्यान देने को कहा। वहीं गोलकडीह स्थित तालाब आज भी अपने बदहाली पर आंसू बहाने को मजबूर है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments