February 22, 2024

JHARIA | दिनांक २९.०७.२३ को कम वर्षा के कारण सुखाड़ की स्थिति में सरकार से मिलनेवाले मुआवजे एवं राहत की मांग को लेकर जिले के मछुआरे सांसद प्रतिनिधि अजय निषाद के नेतृत्व में सांसद पशुपतिनाथ सिंह एवं विधायक राज सिन्हा से मिल ज्ञापन सौंपा । मत्स्य विभाग के सांसद प्रतिनिधी अजय निषाद ने बताया की विगत् वर्ष की भांति इस वर्ष भी कम वर्षा के कारण झारखण्ड , सुखाड़ की चपेट में हैं । प्रांत में कम वारिश होने के कारण अभी तक तालाबों में जलजमाव नहीं हो पाया है और आगे भी संभावना दिखाई नहीं दे रही है, जिसके कारण पिछले महीनें मत्स्य कृषकों द्वारा तालाबों में छोड़ा जानेवाला मछली जीरा बच्चा अभी तक छोड़ा नहीं जा सका है और जो पहले से मछली थे वे कम पानी के कारण ओने पौने दाम में बेचने पड़ रहे है । पिछले वर्ष के नुकसान की भरपाई भी नहीं हो पाई थी की फिर हालात उससे भी दयनीय हो चली है जिसके कारण मत्स्य कृषकों की आर्थिक स्थिति दिन ब दिन खराब होती जा रही है । अगर यहीं हाल रहा तो मछुआरों के समक्ष भूखों मरने की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी ‌। इसलिए मछुआरों की मांग है की अन्य कृषकों की भांति मत्स्य कृषकों को भी सुखाड़ की स्थिति में मिलनेवाले मुआवजे एवम् सरकारी तालाबों की वार्षिक बन्दौबस्ती राशि में राहत मिलनी चाहिए । सांसद पशुपतिनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख सुखाड़ में मछुआरों को भी अन्य कृषकों की भांति मुआवजा देने की बात कही तथा विधायक राज सिन्हा द्वारा यह अश्वासन दिया गया की सोमवार से विधानसभा में सुखाड़ पर होनेवाले चर्चा में मछुआरों की मांग को रखूंगा , ताकि मछुआरों को राहत मिल सके। इस दरम्यान ज्ञापन सौंपने वालों में सांसद प्रतिनिधी अजय निषाद , धनबाद मत्स्यजीवी सहयोग समिति के अध्यक्ष निताय धीवर , झरिया मत्स्यजीवी सहयोग समिति के अध्यक्ष रोशन निषाद , रंजीत मल्लाह , बलराम चौहान , जितेन्द्र निषाद , कन्हैया कुमार , अर्जुन निषाद , बबलू निषाद , विश्वनाथ धीवर , निभाय धीवर , संजय निषाद , महेश पासवान , कृष्णा निषाद आदि थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *