February 22, 2024

श्री गंगा गौशाला कतरास करकेन्द गोपाष्टमी महोत्सव पर मंगलवार कि संध्या में विराट कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया. जिसमें देश के कोने-कोने से आए कवियों ने कविता पाठ किया.

कवि मनजीत सिंह ने कहा कामधेनु है गाय हमारी इसका सम्मान करो, दूध नहीं अमृत है आओ इसका रसपान करो

कतरास: श्री गंगा गौशाला कतरास करकेन्द गोपाष्टमी महोत्सव पर मंगलवार कि संध्या में विराट कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया. जिसमें देश के कोने-कोने से आए कवियों ने कविता पाठ किया. कवि सम्मेलन की अध्यक्षता डॉ उमाशंकर सिंह ने किया. कवि सम्मेलन की शुरुआत राजस्थान से आई कवित्री सपना सोनी ने सरस्वती वंदना से किया.

अयोध्या से आए राम रत्न से सम्मानित दुर्गेश पांडे ने आरती सरयू मां की रहे न घटे खाली, वह भी एक दिवाली साहब यह भी एक दिवाली… फरीदाबाद हरियाणा से आए सरदार मंजीत सिंह ने कामधेनु है गाय नहीं इसकी सम्मान करें,दूध नहीं यह अमृत है आओ रसपान करें..कविता सुनाकर मंत्र मुक्त कर दिया राजस्थान से आई सपना सोनी ने बुझी है जो ना जन्मों से अभी वह प्यास बाकी है. तेरे नजदीक होने का अभी एहसास बाकी है….कविता सुनकर श्रोताओं से खूब वाह वाही ही लूटी. कतरास की धरती पर लगातार 26 वर्षों से आ रहे हैं मध्य प्रदेश से आए पंडित अशोक नागर ने मंच का संचालन करते हुए वीर रस से औत प्रोत कर शानदार काव्य पाठ किया.श्रोताओं ने तालियां बजाकर इनका अभिनंदन किया उत्तर प्रदेश इटावा से आए कभी गौरव चौहान ने यह जज्बा जंग लड़ने का कभी भी चुक नहीं सकता,कभी यह काफिला कुर्बानियों का रुक नहीं सकता, कन्हैया हो या खालिद हो लगा ले जोर कितना भी, बदन में जान है तब तक तिरंगा झुक नहीं सकता” श्रोताओं ने तालिया की गड़गड़ाहट से इनका स्वागत किया.मौके पर सचिव महेश अग्रवाल, दीपक अग्रवाल, कृष्ण कन्हैया राय,रणधीर ठाकुर, राजेश सिंघल, डीएन चौधरी,पूरणचंद, समीर जायसवाल, राजकुमार प्रमाणिक,संटू लाला मुकेश भट्ट,कमलेश सिंह, मुखिया मो अल्ताफ, महिला थाना प्रभारी सोनिका वर्मा मधुबन थानेदार चंदन भैया, विष्णु चौरसिया आदि के अलावे काफी संख्या में श्रोता मौजूद थे. Viral

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *