February 22, 2024

लोगों ने दल के अध्‍यक्ष को गांव की समस्या से अवगत कराया। पिछले पंद्राह वर्षों में बाघमारा का विकास क्यों नहीं हो सका, इसपर श्री महतो ने प्रकाश डाला। श्री महतो ने गांववासियों से कहा कि बाघमारा के गांवों का वास्तविक विकास के लिए परिवर्तन लाना होगा। उन्होंने कहा कि पुर्वती जनप्रतिनिधि‍यों के नकारापन और नकारात्मक रवैए के कारण आज भी बाघमारा के गांव विकास के किरणों से कोसों दूर है।

कतरास: जनशक्त‍ि दल का महाअभियान ‘जनशक्त‍ि संपर्क अभियान’ का दूसरा दिन सोमवार 11 दिसंबर को पूरा हुआ। दूसरा दिन के अभियान में दल के सुप्रीमों सूरज महतो दो दर्जन से अधिक गांवों का दौरा कर चुके हैं। आज भी श्री महतो का कारवां बाघमारा विधानसभा क्षेत्र के निचितपुर-२ पंचायत के छुटे हुए गांवों का दौरा किया।

मालूम हो कि रविवार 1० दिसंबर को दल के अध्‍यक्ष ने इसी पंचायत के अाधा दर्जन गांवों का दौरा किया था, जहां श्री महतो को लोगों का भरपूर प्यार मिला। जनशक्त‍ि दल के अध्‍यक्ष श्री महतो एक-एक घर जाकर विधानसभा क्षेत्र में प्‍यार और भाईचार कायम करने के लिए एक मुट्ठी चावल मांग रहें हैं। इस कार्यक्रम में गांव की महिलाएं  सोमवार को निचितपुर-2 पंचायक के शेष गांवों में पहुंचकर श्री महतो लोगों को जागरूक किया।

इस दौरान लोगों ने दल के अध्‍यक्ष को गांव की समस्या से अवगत कराया। पिछले पंद्राह वर्षों में बाघमारा का विकास क्यों नहीं हो सका, इसपर श्री महतो ने प्रकाश डाला। श्री महतो ने गांववासियों से कहा कि बाघमारा के गांवों का वास्तविक विकास के लिए परिवर्तन लाना होगा। उन्होंने कहा कि पुर्वती जनप्रतिनिधि‍यों के नकारापन और नकारात्मक रवैए के कारण आज भी बाघमारा के गांव विकास के किरणों से कोसों दूर है।

श्री महतो ने कहा कि वे बाघमारा के एक एक गांव घुम रहें हैं। सभी जगह एक जैसी स्थिति है। विकास नहीं हो पाने के कारण वर्तमान व पुर्वर्ति  जनप्रतिनि‍धियों के खिलाफ लोगों में काफी गुस्सा है। उन्होंने कहा कि पूरे बाघमारा में परिवर्तन की लहर है। लोग बदलाव चाह रहे हैं। सूरज महतो ने कहा कि अभियान के दौरान विशेषकर महिलाएं गांव की परिस्थ‍ितियों से अवगत करा रहे हैं। महिलाएं उनकी लड़ाई में साथ देने का भरोसा दे रहीं हैं।

श्री महतो ने कहा कि गांव में खेती-किसानी बिलकुल चौपट हो चुका है। युवा रोजगार के लिए इधर-उधर भटक रहे हैं। रोजगार नहीं होने के कारण गांव युवाओं से खाली पड़े हैं। ज्यादातर युवा रोजगार के लिए दूसरे राज्यों में पलायन कर गए हैं। शेष लोग आसपास के बाजारों में छोटे-मोटे काम करने पर विवष हैं। श्री महतो ने कहा कि गांवों में नारी सशक्तिकरण पर ठोस काम नहीं हुए। मनरेगा के कार्यों में जमकर मशीनीकरण हो रहा है।

गांव में आज भी ड्रेन सिस्टम ठीक नहीं है। गंदे पानी सड़कों पर बह रहे हैं। नतीजतन बीमारियां फैलने का खतरा बना रहता है। श्री महतो ने कहा इस आसन्न विधानसभा चुनाव में बाघमारा का प्रतिनिधित्व का मौका मिला तो पूरे विधानसभा क्षेत्र में समभाव-सद्भाव के साथ-साथ विकास की धारा बहाने का काम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *