Wednesday, May 29, 2024
Homeपश्चि‍म बंगालBarakar: बेगुनिया मोड़ पर चार पहिया के धक्के से वृद्ध महिला हुई...

Barakar: बेगुनिया मोड़ पर चार पहिया के धक्के से वृद्ध महिला हुई घायल, ट्राफी व्यवस्था से नाराज लोगों ने काटा बवाल

बराकर । वार्ड नंबर 69 की रहने वाली महिला का बेगूनिया मोड में एक्सीडेंट हुआ । जिस पर स्थानीय पार्षद ने ट्रैफिक अधिकारियों के कार्य प्रणाली पर नाराजगी जाहिर किया । इस संबंध है बताया जाता है कि बराकर शहर के बेगूनिया मोड़ बराकर बाजार के मध्य भाग में स्थित है । जहां काफी गाड़ियों का आवागमन होता है । एक तरफ बराकर स्टेशन दूसरी तरफ सांकतोडिया पुरुलिया मार्ग तथा तीसरी तरफ झारखंड और एक तरफ आसनसोल की ओर सड़क निकलती है । प्रमुख चौराहा होने के कारण यहां गाडियां सहित लोगों का भी आवागमन काफी होता है । मंगलवार को अचानक आसनसोल नगर निगम के वार्ड नंबर 69 की एक 65 वर्षीय महिला को एक चार चक्का वाहन ने घायल कर झारखंड की ओर फरार हो गया । इसके बाद बेगुनिया मोड पर तैनात ट्रैफिक विभाग के कुछ कर्मियों ने महिला को एक टोटो में बैठकर भेज दिया । महिला बराकर हॉस्पिटल गई जहां उसे चिकित्सकों द्वारा लिस्ट पकड़ा दिया गया । इसके बाद महिला अपने स्थानीय मोहल्ले में आकर रोने लगी । जिसकी सूचना स्थानीय पार्षद सुशांतो मंडल उर्फ जोगा को मिली । जोगा ने आकर तुरंत महिला से पूरी घटना की जानकारी ली और फिर बेगुनिया मोड पहुंचे । जहां उन्होंने देखा कि बेगूनिया मोड पर एक भी ट्रैफिक के अधिकारी या कर्मचारी उपस्थित नहीं है । उन्होंने कहा कि ट्रैफिक अधिकारी का लोगों की मदद करना भी उनका फर्ज है । एक घायल पीड़ित महिला को अकेले इस तरह से टोटो प पर बैठाकर भेज देना उचित नहीं है । उसके साथ किसी जवान को भी जाना चाहिए था । उन्होंने कहा कि यहां ट्रैफिक विभाग के लोग यहां पर केवल मोबाइल चलाने में व्हाट्सएप तथा फेसबुक चलाने में और गाना सुनने में व्यस्त रहते हैं । ट्रैफिक कर्मी केवल यहां दो चक्का वाहनों की जांच करते हैं और झारखंड नंबर दो चक्का वाहनों को जांच करते हैं और चार चक्का वाहन बिना जांच पड़ताल के ही आवागमन करती है । उन्होंने कहा कि इन अधिकारियों को चार चक्का वाहनों के कागजों की भी जांच करनी चाहिए । उन्होंने कहा कि भरे बाजार में ट्रैफिक विभाग के लोगों की उपस्थिति में एक चार चक्का वाहन महिला को जख्मी कर फरार हो जाता है और लोग खड़े होकर देखते रह जाते हैं और इतना ही नहीं एक घायल महिला को टोटो पर बैठ कर भेज दिया जाता है जो उचित नहीं है । उन्होंने कहा कि ट्रैफिक विभाग के अधिकारी से उनकी बातचीत हुई है महिला को अस्पताल में प्राथमिक चिकित्सा के बाद छोड़ दिया गया ।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments