February 22, 2024

इस कार्यक्रम के दौरान 2 मिनट मौन रखकर स्वर्गीय विनोद बिहारी महतो को श्रद्धांजलि दी गई।कार्यक्रम में हलधर महतो ने कहा कि स्वर्गीय विनोद बिहारी महतो का सपनों का झारखंड अभी नहीं बन पाया है। विनोद बाबू ने शोषण मुक्त समाज तथा झारखंड आंदोलन के शीर्ष नेता थे।वे क्रांतिकारी विचार के वक्ता थे।इस अवसर पर सदानंद महतो ने कहा कि विनोद बाबू झारखंड के पितामाह थे।

तोपचांची: सोमवार को तोपचांची के मानटांड में स्वर्गीय विनोद बिहारी महतो का 35 वां पुण्यतिथि सह श्रद्धांजलि कार्यक्रम किया गया। इस कार्यक्रम का नेतृत्व युवा एकता मंच अध्यक्ष सदानंद महतो ने किया।इस श्रद्धांजलि कार्यक्रम में सर्वप्रथम सभी ने बारी बारी से पुष्पांजलि तथा माल्यार्पण किया। इस कार्यक्रम के दौरान 2 मिनट मौन रखकर स्वर्गीय विनोद बिहारी महतो को श्रद्धांजलि दी गई।कार्यक्रम में हलधर महतो ने कहा कि स्वर्गीय विनोद बिहारी महतो का सपनों का झारखंड अभी नहीं बन पाया है। विनोद बाबू ने शोषण मुक्त समाज तथा झारखंड आंदोलन के शीर्ष नेता थे। वे क्रांतिकारी विचार के वक्ता थे।इस अवसर पर सदानंद महतो ने कहा कि विनोद बाबू झारखंड के पितामाह थे।वह बड़ा सरल स्वभाव के थे।वे दार्शनिक के साथ लेखक भी थे।वे आंदोलनकारी तथा समाज के कुव्यवस्था के विरोधी थे।इस मौके पर मुख्य रूप से विनय दास, रामचंद्र ठाकुर,शेखर महतो, खेमचंद महतो, सेवाराम महतो, बिंदेश्वर महतो, सहदेव महतो, रमेश भगत, मनोज महतो, झारखंड आंदोलनकारी नेता किशोर किसकु आदि लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *